शनिवार, 27 फ़रवरी 2010

मेरा गाँव-1

"मेरा गाँव" 
कैनवस पर ऑयल पेण्टिंग- 2005 

1 टिप्पणी:

  1. प्रिय जयचाँद,
    आपकी यह पेण्टिंग बहुत ही सुन्दर है. मगर आपने एक ही सन्देश डालकर छोड़ क्यों दिया? हम आपकी और भी पेण्टिंग देखना चाहते हैं.
    और हाँ, फोटोग्राफ भी.
    -जयदीप शेखर

    उत्तर देंहटाएं